विश्व का सबसे स्वच्छ गाँव भारत में

क्या आप जानते है कि विश्व का सबसे स्वच्छ गाँव कौनसा है और यह किस देश में स्थित है तो आज इस पोस्ट में हम आपको इसी बारे में बताने जा रहे हैं। गाँव को लेकर लोगो के मन में अक्सर धारणा बनी रहती है कि यहाँ काफी गंदगी रहती है। जहां तक भारत की बात करे तो यहाँ के ज्यादातर गाँव गंदगी से प्रभावित है और इसकी मुख्य वजह ये है कि गाँव के लोगो के बीच सफाई के प्रति जागरूकता न होना है। भारत के गाँव में हालात इतने खराब है कि लोगो के पास शौचालय तक नहीं है। हालाकि अब PM मोदी जी की कोशिशों के बाद भारत के हर गाँव में शौचालय बनवाने के लिए आर्थिक मदद दी जा रही है।

विश्व का सबसे स्वच्छ गाँव

इसके अलावा देश में लोगो को सफाई के प्रति जागरूक करने के लिए स्वच्छ भारत अभियान भी चलाया जा रहा है। जिसका उद्देश्य पूरे देश को गंदगी से साफ रखना है। देश में इस अभियान का असर दिख भी रहा है कई गाँव और शहर सामने आ रहे हैं। जिनमें वाकई साफ सफाई का ध्यान रखा जा रहा है। अगर इसी तरह गाँव शहर के लोग जागरूक होते गए तो वह दिन दूर नहीं जब इंडिया भी एक स्वच्छ देश कहलायेगा।

विश्व का सबसे स्वच्छ गाँव

ज्यादातर गाँव में अक्सर गंदगी देखी जाती है लेकिन यहाँ हम आपको दुनिया के सबसे स्वच्छ गाँव के बारे में बताने जा रहे हैं। अगर आप स्वच्छता प्रेमी है तो आपको जानकर खुशी होगी कि विश्व का सबसे साफ गाँव भारत में ही मौजूद है। इस गाँव का नाम मावलिनोंग (Mawlynnong) है। जो मेघालय के शिलोंग के करीब भारत बांग्लादेश से 90 किलोमीटर की दूरी पर बसा है।

साल 2015 के जनगणना के मुताबिक इस गाँव में करीब 100 परिवार रहते हैं। यहां के ज्यादातर परिवार अपनी जीविका चलाने के लिए सुपारी की खेती करते हैं। यहाँ के लोग अपने घर से निकलने वाले कचरे को बांस के बने पात्र में इकठ्ठा करते है और समय आने पर इसे गड्डे में इकठ्ठा करते हैं।

इस तरह गड्डे में जमा कचरे की खाद बन जाती है। जिसे बाद में खेतों के काम में उपयोग कर लिया जाता है। इससे वह अपने खेतों के लिए खाद भी बना लेते है और गाँव की स्वच्छता भी बनी रहती है। अपनी सफाई के चलते यह गाँव पूरे मेघालय में जाना जाता है और अब तो देश दुनिया में भी इस गाँव को जानने लगे हैं।

मावलिनोंग नामक इस गाँव को कई उपाधि भी प्राप्त है। जैसे साल 2003 में इसे एशिया का सबसे साफ गाँव तथा 2005 में इसको भारत का सबसे स्वच्छ गाँव की उपाधि मिली है। इस गाँव में सफाई होने की वजह यहाँ की साक्षरता है यहाँ के लगभग सभी लोग पढ़े लिखे है और ज्यादातर अंग्रेजी में बात करते हैं।

तो अब आप जान गए होंगे कि विश्व का सबसे स्वच्छ गाँव कौनसा है किसी भी जगह को खूबसूरत बनाने में वहां मौजूद लोगो का काफी योगदान होता है और यह सब जागरूकता से होता है। मावलिनोंग गाँव के लोग खचरा दिखने पर उसे तुरंत डस्टबिन में डाल देते हैं इसके बाद ही अपना दूसरा काम करते हैं।

इन्हें भी पढ़े –

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here