हवाई जहाज का आविष्कार किसने किया था

क्या आपको पता है हवाई जहाज का आविष्कार किसने किया था और कब किया था. आज हम जिस Aeroplane के जरिये आसमान में उड़ते हैं वह पहले मात्र कल्पना ही थी. वर्तमान में दुनिया में कई कंपनी बन गयी है जो हवाई जहाज बनाने का काम करती है. इसके अलावा ज्यादातर देशों में कई ऐसी कंपनियां भी है जो इन हवाई जहाज से हमें एक स्थान से दूसरे स्थान पर पहुंचाती है. जहां तक भारत की बात करे तो Aeroplane से सफर करने का कारोबार काफी फल फूल रहा है. पहले के समय जहां हवाई जहाज से केवल अमीर लोग ही यात्रा करते थे लेकिन आज के समय हवाई जहाज की यात्रा का खर्चा इतना कम हो गया है कि इसमें अब मिडिल क्लास के लोग भी यात्रा कर रहे हैं.

हवाई जहाज का आविष्कार किसने किया था

हवाई जहाज के आविष्कार के जहां लगभग सभी अमीर और आम लोगो का फायदा हुआ है. वहीं इससे देश की सुरक्षा भी की जा रही है. इस आविष्कार से पहले एयर फाॅर्स नाम की कोई चीज नहीं होती थी लेकिन जैसे ही आसमान में उड़ने वाले Aeroplane का आविष्कार हुआ इसके सिद्धांत का उपयोग करते हुए कई देश फाइटर प्लेन बनाने लग गए थे.

इस खोज से पहले केवल दो ही सेना हुआ करती थी जल सेना और थल सेना. उड़ने वाले हवाई जहाज को देखते हुए एक नई सेना का जन्म हुआ जिसे हम एयर फाॅर्स के नाम से जानते है. वर्तमान समय में कई देशों के पास लड़ाकू विमान है जो अपने देशों की रक्षा कर रहे हैं.

आपके मन में सवाल होगा कि आखिर किस देश के पास सबसे ज्यादा हवाई जहाज है तो आपको बता दे कि अमेरिका यानी USA एक ऐसा देश है जिसके पास सबसे ज्यादा हवाई जहाज और लड़ाकू विमान है. इससे जुड़ा फैक्ट ये भी है कि हवाई जहाज की खोज अमेरिका में ही हुई है.

हवाई जहाज का आविष्कार किसने किया था

Aeroplane की खोज का श्रेय राइट ब्रदर्स को जाता है जिन्होंने सबसे पहले हवाई जहाज बनाकर उसे उड़ाया था. आप में से बहुत से लोग जानना चाहते होंगे कि wright brothers का पहला नाम क्या था तो आपको बता दे कि इनका नाम ओरविल राइट और बिल्वुर राइट था.

इनके पिता अमेरिका के हटिंगटन स्थित यूनाइटेड ब्रेदेन चर्च में बिशप पद पर कार्यरत थे. राइट बंधु बचपन से बहुत ही कल्पनाशील थे इस कल्पना को ऊंचाई तब मिली जब इनके पिता ने इनको खिलौना हेलिकॉप्टर ला कर दिया था.

दोनों भाई ओरविल और बिल्वुर राइट अपने पिता के दिए हेलिकॉप्टर के खिलौने से खेला करते थे. जब यह टूट गया तो दोनों भाईयों ने हकीकत में उड़ने वाला विमान बनाने के बारे में सोचा था. इसके बाद दोनों भाईयों ने अलग अलग पुर्जों को जोड़कर हवाई जहाज का विकास करने में लग गए थे.

राइट ब्रदर्स को Aeroplane बनाने में कामयाबी इसलिए भी मिली क्योंकि दोनों को मशीनी तकनीक की अच्छी समझ थी. दोनों भाई ने प्रिंटिंग प्रेसों, साइकिल, मोटर और और दूसरी मशीनों में लगातार काम करके अच्छा ज्ञान हासिल कर लिया था.

साल 1900 से लेकर 1903 तक दोनों हवा में उड़ने वाले ग्लाइडरों के साथ परीक्षण करते रहे थे. इसके साथ उन्होंने हवाई जहाज के उड़ने के लिए फ्लूड डायनामिक्स के सिद्धांतों का उपयोग किया था. हवाई जहाज गुरुत्वाकर्षण बल के कारण नीचे न गिरे इसके लिए लगातार प्रयास किये गए थे.

राइट बंधुओं ने Aeroplane का बजन बार बार कम किया जिससे इसे हवा में उड़ने में आसानी हो सके इसके साथ उड़ने की दिशा सही और संतुलित करने के लिए थ्री एक्सिस कण्ट्रोल थ्योरी का प्रयोग किया. अंत में दोनों भाईयों की मेहनत रंग लायी और 17 दिसंबर 1903 को दोनों भाईयों का बनाया राइट फ्लायर नमक हवाई जहाज ने उड़ान भरी. यह विमान 120 फिट की ऊंचाई पर 12 सेकंड तक उड़ा था.

इन्हें भी पढ़े –

हवाई जहाज का आविष्कार किसने किया था और कब किया था अब आप जान गए होंगे. आपको बता दे कि उस समय Aeroplane की खोज से जुड़े कई विवाद भी सामने आये थे. उस वक्त फ्रांस की एक कंपनी ने कुछ इसी तरह का आविष्कार करने का दावा किया था. हालाकि साल 1908 में पूरी दुनिया ने राइट ब्रदर्स की इस खोज को मान्यता दे दी थी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here