छिपकली जहरीली होती है या नहीं यहां जानिए

छिपकली जहरीली होती है या नहीं यह बात बहुत कम लोगो को पता होती है आज के समय आपको हर घर में छिपकली देखने को मिल जाएगी हालाकि लोग इनको घर में आने से रोकने के लिए खिड़कियों में जाली का प्रयोग करते है. इससे घर से छिपकली तो दूर रहती है साथ ही अन्य दूसरे कीड़े मकोड़े भी घर में प्रवेश करने में असफल रहते हैं. लेकिन कई बार सारी कोशिशों के बावजूद भी छिपकलियां घर में प्रवेश कर जाती है. छिपकलियों के घर में आने का कोई खास समय नहीं होता है यह 12 महीने आपके घरों में नजर आ सकती है. गर्मियों के समय कीट पतंगों के चलते ये कुछ ज्यादा ही दिखाई देती हैं.

छिपकली जहरीली होती है या नहीं
chipkali jahrili hoti hai ya nahi

आज भी बहुत से लोग है जिन्हें छिपकली के बारे में ज्यादा जानकारी पता नहीं होती है चूँकि छिपकलियां घरों की दीवारों में निवास करती है ऐसे में यह नजर आती रहती हैं बहुत से लोगो के मन में सवाल होता है कि क्या छिपकली में जहर होता है तो आज हम यहाँ इस पोस्ट में आपको इसी सवाल का जबाव देने वाले हैं. तो चलिए जानते हैं.

छिपकली जहरीली होती है या नहीं

इसे जानने से पहले घरों में पाए जाने वाले इस जीव के बारे में जानते हैं वैसे तो छिपकली कभी किसी मनुष्य को काटती नहीं है लेकिन कभी कभी इसको खतरा महसूस होने पर यह काट सकती है. काटने पर भी यह हमारी त्वचा पर ज्यादा घाव नहीं कर सकती है क्योंकि इसके दांत बहुत छोटे छोटे होते हैं और जो नुकीले भी नहीं होते हैं.

भारत में छिपकली को अलग जगहों में अलग अलग नामों से जाना जाता है. अंग्रेजी में इसे कॉमन हाउस गेको या हाउस लिज़ार्ड कहा जाता है. यह 3 से 6 इंच तक लंबी हो सकती है. छिपकली की उम्र लगभग 5 साल होती है. दिन के समय यह जीव किसी अंधेरी जगह में छिप जाता है जबकि रात होने पर यह अपने शिकार कीड़े मकोड़े, पतंगों की तलाश में निकलता है.

छिपकली कीड़े मकोड़े या पतंगों को खाकर जिन्दा रहती हैं. दीवार पर चलने के लिए इनके विशेष प्रकार के पंजें होते है जो इनको दीवार पर चलने और चिपके रहने में मदद करते हैं. खतरे को महसूस करते ही यह अपनी पूंछ को अलग कर देती है. लगभग 1 महीने में इनकी पूंछ बापस आ जाती है. छिपकली टिक टिक की आवाज निकालती है.

दुनियाभर में छिपकली की कई सारी प्रजाति हैं जिनमें कई जहरीली होती है जहां तक बात करे घर में पाए जाने वाली घरेलु छिपकली की तो यह जहरीली नहीं होती है. लोगो के मन में अक्सर संशय बना रहता है कि अगर छिपकली खाने के सामान में गिर जाए तो क्या यह जहरीला हो जाता है. तो इसके दोनों तरह के परिणाम हो सकते हैं इससे खाना जहरीला तो नहीं होता लेकिन संक्रमित हो सकता है.

दरअसल इनकी त्वचा और शरीर पर कई प्रकार के पेथोजेन्स यानि बीमारी फैलाने वाले बेक्टिरिया, जीवाणु, वायरस आदि होते है. क्योकि यह ऐसी जगह घूमती रहती है जहाँ धूल, मिट्टी, गन्दगी बहुत होती है. वहां से कीटाणु इसके शरीर पर चिपक जाते है. इसके अलावा यह कीड़े मकोड़े, पतंगों का सेवन करती है. इस तरह घरेलु छिपकली जहरीली न होते हुए भी जहरीली बन जाती है.

तो अब आप जान गए होंगे कि छिपकली जहरीली होती है या नहीं बहुत से लोग छिपकलियों को भगाते नहीं है क्योंकि यह घर में आने वाले कीड़े मकोड़े और पतंगों को साफ कर देती है. हालाकि छिपकली के काटने से आप बीमार हो सकते है इसलिए इसे घर से भगाना ही बेहतर होता है. इसके साथ ही यह घर के किसी खाने के सामान में गिर जाए तो वह खाना संक्रमित हो जाता है. ऐसे में आपको छिपकली भगाने के घरेलु उपाय अपनाना चाहिए.

इन्हें भी पढ़े –

NetHindi.com पर आपका स्वागत है यहाँ हम आपको देश दुनिया की दिलचस्प जानकारी शेयर करते रहते हैं अगर आप भी नई नई जानकारियों को जानने के लिए इक्षुक है तो हमारे साथ बने रहे हम आपके लिए ऐसे ही जानकारियां शेयर करते रहेंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here